नई दिल्ली, 12जनवरी 2021

सरकार के आदेश के मुताबिक, कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण अनिवार्य है. पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा फोटो आईडी का सत्यापन भी जरूरी है.

देश में कोरोना का टीका लगाने का अभियान 16 जनवरी से शुरू होगा. उससे पहले सभी राज्य टीकाकरण की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं. उत्तर प्रदेश सरकार ने टीकाकरण के लिए नियम भी तय कर दिए हैं. योगी सरकार की ओर से मंगलवार को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए गए.

सरकार के आदेश के मुताबिक, कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण अनिवार्य है. पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा फोटो आईडी का सत्यापन भी जरूरी है. अगर कोई व्यक्ति फोटो आईडी दिखाने में असमर्थ है तो ऐसे में क्या होगा. सरकार ने इसका जवाब देते हुए बताया कि फोटो आईडी पंजीकरण स्थल पर पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है. ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके कि इच्छित व्यक्ति को वैक्सीन लगाई गई है.

बता दें कि सीएम योगी ने कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर समय के पहले सभी व्यवस्थाएं पूरी करने के भी आदेश दिए थे. उन्होंने कोविड- 19 की टेस्टिंग को ज्यादा से ज्यादा करने और लोगों को निरंतर जागरुक करने पर बल दिया. सीएम योगी ने कहा था कि कोविड -19 वैक्सीनेशन का काम भारत सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन को ध्यान में रखकर किया जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि निर्धारित किए गए क्रमों का प्रत्येक दशा में पालन होना चाहिए.

वैक्सीन की पहली खेप पहुंची लखनऊ 

वहीं, कोरोना वैक्सीन की पहली खेप उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंच गई है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार हुई कोविशील्ड वैक्सीन मंगलवार शाम लखनऊ पहुंची. वैक्सीन स्टोरेज के लिए प्रदेश में 18 स्टेट स्टोर बनाए गए हैं. अभी इनमें से 9 स्टेट स्टोर पर वैक्सीन जाएगी.

अभी लखनऊ, आगरा, बरेली, वाराणसी, गोरखपुर, अयोध्या, झांसी, मेरठ, कानपुर के स्टेट स्टोर पर वैक्सीन रखी जाएगी. बाद में नए बनाए गए प्रयागराज, मिर्जापुर, आज़मगढ़, देवीपाटन गोंडा, चित्रकूट बांदा, बस्ती, सहारनपुर, मुरादाबाद, अलीगढ़ के स्टोर पर वैक्सीन जाएगी.