नई दिल्ली, 28 जनवरी 2021

केंद्र सरकार ने कहा है कि इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगा बैन 28 फरवरी तक जारी रहेगा. डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (Directorate General of Civil Aviation) ने गुरुवार को यह जानकारी दी. हालांकि डीजीसीए (DGCA) ने कहा कि मामला दर मामला के आधार पर सक्षम प्राधिकारी चुनिंदा मार्गों के लिए उड़ानों की अनुमति दे सकते हैं.

 

डीजीसीए का कहना है कि कोरोना काल के नए स्ट्रेन के खतरे और यूरोपीय देशों में बढ़ते मामलों के बीच यह कदम उठाया गया है. रेगुलर फ्लाइट्स पर जहां एक ओर बैन लगा हुआ है, वहीं वंदे भारत मिशन के जरिए सीमित संख्या में फ्लाइट्स भरी जा रही हैं.

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण 23 मार्च से नियमित अंतरराष्ट्रीय यात्री विमान सेवा स्थगित है. हालांकि, वंदे भारत अभियान और एयर बबल सिस्टम के तहत मई से कुछ निश्चित देशों के लिए विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के संचालन की इजाजत है. भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, सऊदी अरब, केन्या, भूटान और फ्रांस समेत 24 देशों के साथ एयर बबल समझौता किया है.

डोमेस्टिक फ्लाइट्स के परिचालन में तेजी
वहीं, डोमेस्टिक फ्लाइट्स के परिचालन में लगातार तेजी आ रही है. भारतीय विमानन कंपनियों के लिए डोमेस्टिक फ्लाइट्स संचालन संख्या को कोरोना से पहले के स्तर के मुकाबले 70 से बढ़ाकर 80 फीसदी किया जा चुका है. विमानन कंपनियां कोरोना से पहले के स्तर के मुकाबले 70 फीसदी घरेलू यात्री उड़ानों का संचालन कर सकती हैं. घरेलू परिचालन पिछले साल 25 मई को 30 हजार यात्रियों के साथ शुरू हुआ और 30 नवंबर 2020 को इसने 2.52 लाख का आंकड़ा छू लिया था.