कोलकाता, 22 फरवरी 2021

कोयला घोटाला मामले में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी के भतीजे और पार्टी के सदस्य अभिषेक बनर्जी की पत्नी और भाभी को सीबीआई द्वारा नोटिस दिए जाने को लेकर टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने भाजपा को जमकर खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने कहा कि, ‘बीजेपी का कोई सहयोगी दल नहीं है। उनके एक मात्र सहयोगी सीबीआई और ईडी हैं। वे टीएमसी पर दबाव बनाने के लिए अपने सहयोगियों का इस्तेमाल करने की धमकी दे रहे हैं।’

उन्होंने आगे कहा कि अभिषेक की पत्नी और भाभी को जो भी नोटिस जारी किया गया है उसे कानूनी रूप से निपटाया जाएगा। गौरतलब है कि ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा बनर्जी को कोयला तस्करी के आरोपों से जुड़े एक मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है। सीबीआई की टीम मामले में समन जारी करने के लिए रविवार को कोलकाता में बनर्जी के घर पर भी गई थी, लेकिन वह उस वक्त अपने घर पर नहीं मिलीं।

इसके बाद उनके परिवार को पूछताछ के लिए एक नोटिस सौंपने के बाद अधिकारी वहां से चले गए। सीबीआई ने अभिषेक बनर्जी की भाभी मेनका गंभीर को भी सोमवार को पूछताछ के लिए तलब किया। आपको बता दें कि इस मामले में यह आरोप लग रहे हैं कि कोयला माफियाओं ने अवैध खनन के लिए बंगाल की सत्तारूढ़ टीएमसी के नेताओं को नियमित रूप से रुपयों का भुगतान किया था।

यह पैसा विनय मिश्रा के माध्यम से प्रसारित किया गया, जो तृणमूल की युवा शाखा के महासचिव हैं, जिसकी अध्यक्षता अभिषेक बनर्जी कर रहे हैं। 31 दिसंबर को सीबीआई ने विनय मिश्रा के घर पर छापा मारा, जो अब फरार है। एजेंसी ने उसके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया है। गौरतलब है, सीबीआई ने पूर्वी कोलफील्ड लिमिटेड के कुनुस्तोरिया और कजोरिया कोयला क्षेत्रों से अवैध खनन और कोयले की चोरी की जांच के लिए पिछले साल नवंबर में मामला दर्ज किया था।