नई दिल्ली, 19 मई 2021

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने बुधवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के बयान पर केंद्र सरकार पर कटाक्ष किया है। दरअसल गडकरी ने कहा था कि अधिक दवा कंपनियों को कोविड-19 के टीके बनाने की अनुमति दी जानी चाहिए। रमेश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, “लेकिन क्या उनके बॉस सुन रहे हैं? यही डॉ. मनमोहन सिंह ने 18 अप्रैल को सुझाया था।”

उन्होंने टिप्पणी करते हुए गडकरी का एक वीडियो भी संलग्न किया।

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, “(केंद्रीय मंत्री) नितिन गडकरी कहते हैं कि वैक्सीन की मांग की आपूर्ति के मुद्दे को हल करने के लिए और अधिक विनिर्माण लाइसेंस दिए जाने चाहिए। समस्या यह है कि देश वैक्सीन की मांग कर रहा है, लेकिन बीजेपी नकली टूल किट की आपूर्ति कर रही है।”

सरकार पर कटाक्ष करते हुए, शेरगिल ने कहा, “वैक्सीन की मांग आपूर्ति असंतुलन भाजपा द्वारा पैदा की गई मुश्किल है, क्या भाजपा टीकाकरण निर्माण में तेजी लाने के लिए शुभ मुहूर्त का इंतजार कर रही है?”

उन्होंने कहा कि यह जानकर अच्छा लगा कि कम से कम एक भाजपा मंत्री वास्तविकता के प्रति जाग रहा है।

उन्होंने कहा, “सिस्टम को जगाने के लिए और कितनों को मरना होगा?”

गडकरी ने मंगलवार को कहा था कि अगर टीकों की मांग आपूर्ति से अधिक होगी तो यह समस्या पैदा करेगा। इस प्रकार, उत्पादन बढ़ाने के लिए कम से कम 10 और कंपनियों को लाइसेंस दिया जाना चाहिए।