पटना, 24 मार्च 2021

बिहार विधानसभा में बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक 2021 के विरोध में कल हुए सदन में हंगामे को लेकर राजद नेताओं तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव और अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।वहीं बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विधानसभा में हुए हंगामा को लेकर नीतीश कुमार को आड़े हाथों ले लिया। उन्होंने कहा कि नीतीश जी को पता होना चाहिए कि सरकारें बदलती हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि कल विधानसभा के अंदर विधायकों के साथ दुर्व्यवहार और मारपीट की गई। अगर नीतीश कुमार ने इस घटना के लिए माफी नहीं मांगी, तो हम शेष कार्यकाल के लिए विधानसभा का बहिष्कार कर सकते हैं। ‘नीरज कुमार जी’ ने सारी शर्म खो दी है।

बता दें कि बीते मंगलवार की शाम को बिहार विधानसभा के अंदर हुए घटना के खिलाफ विपक्ष के विधायक आज यानी कि बुधवार को धरने पर बैठ गए हैं। विरोधी पार्टियों के विधायक आंखों में पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं सदन के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों की तैनाती कर दी गई है। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद भी सदन में विपक्षी पार्टी के विधायक नहीं गए। कल की घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की मांग की। वहीं राजद महिला विधायक ने सदन के बाहर चूड़ियां दिखाईं।

विधानसभा के बाहर विपक्ष समानांतर सदन चल रहा है। वहीं विधायकों के साथ हुई मारपीट पर कांग्रेस सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार जो आपातकाल के खिलाफ अपनी राजनीति करते हैं, आज उनके शासनकाल में चुने हुए विधायकों को विधानसभा में पुलिस मारती है, महिला विधायकों के साथ अभद्रता होती है। ये गुंडाराज नहीं है तो क्या है। नीतीश सरकार पर हिटलर शाही का आरोप लगाते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा समेत अन्य विधायकों ने लगातार सरकार के खिलाफ नारेबाजी की है।