नई दिल्ली, 6जनवरी 2021

पोलाची यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने बुधवार को पूर्व एआईडीएमके( AIADMK) कार्यकर्ता सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद एआईएडीएमके के युवा नेता के अरुणांदम को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। वहीं गिरफ्तारी के बाद सभी आरोपियों को कोर्ट ने 14 दिनों की रिमांड पर भेज दिया है।

आपको बता दें कि फरवरी 2019 में यह मामला तब सामने आया था, एक 19 साल की युवती शिकायत दर्ज कराई और बताया कि उसक साथ हुए यौन शोषण का वीडियो शूट कर उसे ब्लैकमेल किया जा रहा है। मामला हाईप्रोफाइल होने क कारण सीबीआई को जांच सौंपी गई और अब इस मामले में CBI ने एआईएडीएमके के युवा नेता समत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किये गए लोगों में AIADMK के युवा नेता अरुलानाथम, टी हेरॉन पॉल और पी बाबू शामिल हैं।

सीबीआई ने तीनों को पोलाची से गुरुवार शाम को मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। पूछताछ के बात तीनों को कोयम्बटूर मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में मेडिकल परीक्षण के लिए पेश किया गया। उन्हें रिमांड के लिए बुधवार सुबह अदालत में पेश किए जाने की संभावना है। सीबीआई ने आरोपियों के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की हैं जिसमें पहली एफआईआर पीड़ित महिला के शोषण के लिए जबकि दूसरी एफआईआर पीड़िता के भाई पर हमले के लिए दर्ज की गई है।

ज्ञात हो कि 24 फरवरी, 2019 को 19 वर्षीय महिला ने पुलिस में शिकायत की कि चार लोगों ने एक कार में उसे निर्वस्त्र करने की कोशिश की और पूरी घटना की वीडियो भी बनाई। जांच में पाया गया कि आरोपियों ने घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग की थी और लड़की को ब्लैकमेल किया। पीड़िता की शिकायत पर केस दर्ज होने के बाद मामले से संबंधित यौन हमलों के कुछ और वीडियो सामने आए और पांच लोगों पर इस घटना को अंजाम देने का आरोप लगा था।

पोलाची यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार को पूर्व एआईडीएमके कार्यकर्ता सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किये गए लोगों में वादुगपल्याम(पोलाची) निवासी के. अरुलानाथम (34), अचिपत्ती(पोलाची) निवासी के. टी.हेरॉन पॉल (29) और वादुगपल्याम(पोलाची) निवासी पी. बाबू (27) शामिल हैं, जिसमें के. अरुलानाथम पोलाची शहर की एआईडीएमके की छात्र इकाई का सचिव है।

सीबीआई ने तीनों को पोलाची से गुरुवार शाम को मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। पूछताछ के बात तीनों को कोयम्बटूर मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में मेडिकल परीक्षण के लिए पेश किया गया। उन्हें रिमांड के लिए बुधवार सुबह अदालत में पेश किए जाने की संभावना है। सीबीआई ने आरोपियों के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की हैं जिसमें पहली एफआईआर पीड़ित महिला के शोषण के लिए जबकि दूसरी एफआईआर पीड़िता के भाई पर हमले के लिए दर्ज की गई है।

ज्ञात हो कि 24 फरवरी, 2019 को 19 वर्षीय महिला ने पुलिस में शिकायत की कि चार लोगों ने एक कार में उसे निर्वस्त्र करने की कोशिश की और पूरी घटना की वीडियो भी बनाई। जांच में पाया गया कि आरोपियों ने घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग की थी और लड़की को ब्लैकमेल किया। पीड़िता की शिकायत पर केस दर्ज होने के बाद मामले से संबंधित यौन हमलों के कुछ और वीडियो सामने आए और पांच लोगों पर इस घटना को अंजाम देने का आरोप लगा था।