नई दिल्ली ,24 दिसंबर 2020
महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि केंद्र राजनीतिक फायदे के लिए NIA,ED
और CBI जैसी एजेंसियों का इस्तेमाल ‘हथियार’ के तौर पर कर रहा है. महबूबा ने कहा कि अगर मुझे गिरफ्तार करना है तो करो, लेकिन मेरे रिश्तेदारों को परेशान मत करो.
जम्मू-कश्मीर में DDC चुनाव नतीजों के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र राजनीतिक फायदे के लिए NIA, ED और CBI जैसी एजेंसियों का इस्तेमाल ‘हथियार’ के तौर पर कर रहा है.

महबूबा ने कहा कि अगर मुझे गिरफ्तार करना है तो करो, लेकिन मेरे रिश्तेदारों को परेशान मत करो. इस बीच खबर है कि ED ने बुधवार को श्रीनगर और दिल्ली में पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के कथित करीबी अंजुम फाजिली से जुड़ी जगहों पर तलाशी ली है.

सूत्रों के मुताबिक, प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत तलाशी के दौरान, जांच एजेंसी ने अंजुम फाजिली के श्रीनगर निवास से 21 लाख रुपये और दिल्ली के निवास से 6.62 लाख रुपये जब्त किए हैं. बताया जा रहा हा कि पीडीपी के पूर्व विधायक अंजुम फाजिली की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जांच की जा रही है.

वहीं, DDC चुनाव के नतीजों पर खुशी जाहिर करते हुए महबूबा ने कहा कि बीजेपी ने मेरी पार्टी को ‘खत्म’ करने के कई प्रयास किए, लेकिन वो सफल नहीं हो सके. घाटी में बीजेपी की तीन सीटों पर जीत पर उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के बलबूते पार्टी ने धन बल, बाहुबल के जरिए जीत हासिल की है.
उधर, DDC चुनाव नतीजों को लेकर बीजेपी खासी उत्साहित है, पीएम मोदी से लेकर जेपी नड्डा तक तमाम बड़े नेताओं ने नतीजों पर ट्वीट किया है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बीजेपी के बढ़िया प्रदर्शन पर पार्टी वर्कर्स को बधाई दी. मालूम हो कि डीडीसी चुनाव जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने के बाद पहला बड़ा चुनाव था, जिसमें बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है.

वहीं, महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि केंद्र कश्मीर में उनके पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के स्मारक के निर्माण के मामले में भी जांच कर उनको परेशान करना चाहती है. उन्होंने कहा कि इतने निचले स्तर पर राजनीति होगी सोचा नहीं था. बकौल महबूबा, पिछले 2 साल में मेरी संपत्ति आदि सब चीजों को खंगाल लिया, लेकिन उन्हें कुछ भी नहीं मिला.