मुंबई, 22 मई 2021

चक्रवात तौकते ने गुजरात और महाराष्ट्र में जबरदस्‍त तबाही लाई। जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हेलीकाप्‍टर से दौरा किया। वहीं महाराष्‍ट्र मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महाराष्‍ट्र के तूफान से प्रभावित क्षेत्रों का जाकर जायजा लिया। जिसके बाद भाजपा ने ठाकरे के दौरे की कम अविध को लेकर तंज कसा था। जिस पर पटलवार करते हुए उद्धव ठाकरे ने कारारा जवाब दिया है।

चक्रवात तौकते, जिसने सोमवार रात गुजरात में दस्तक दी, इसने गोवा, महाराष्ट्र और कर्नाटक सहित पश्चिमी तट के साथ कई अन्य राज्यों को भी प्रभावित किया। चक्रवात प्रभावित कोंकण क्षेत्र के अपने दौरे की अवधि को लेकर भाजपा की आलोचना के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पलटवार करते हुए कहा कि वह कम से कम जमीनी स्थिति का जायजा ले रहे हैं और हेलीकॉप्टर हवाई सर्वेक्षण नहीं कर रहे हैं। उन्‍होंने ये तंज प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर की जिन्होंने हाल ही में गुजरात में एक हवाई सर्वेक्षण किया था, जहां इस सप्ताह के शुरू में चक्रवात तौकते ने काफी नुकसान किया था।

भाजपा की आलोचना के बारे में पूछे जाने पर उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को कहा, “यह ठीक है अगर मेरा दौरा चार घंटे तक चला। कम से कम मैं स्थिति का जायजा लेने के लिए जमीन पर हूं और फोटो सेशन के लिए हेलीकॉप्टर में नहीं हूं जबकि मैं खुद एक फोटोग्राफर हूं। “उन्होंने महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग के मालवन में कहा, “मैं यहां विपक्ष की आलोचना का जवाब देने नहीं आया हूं।”

बता दें उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को चक्रवात के बाद की जमीनी स्थिति जानने के लिए कोंकण के रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों का दौरा किया और अधिकारियों को दो दिनों के भीतर फसल नुकसान का आंकलन पूरा करने का निर्देश दिया। हालांकि, महाराष्ट्र में भाजपा नेताओं ने उनकी यात्रा की अवधि को लेकर ठाकरे पर निशाना साधा।

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उन्हें यह जानकर आश्चर्य हुआ कि उद्धव ठाकरे कोंकण के अपने तीन घंटे के लंबे दौरे के दौरान राजनीतिक टिप्पणी कर रहे थे, विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने जानना चाहा कि उद्धव ठाकरे सिर्फ तीन में कैसे समझ सकते हैं घंटे चक्रवात से हुई क्षति की सीमा।