सागर, 23 मई 2021

कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने जमकर तबाही मचाई है और तीसरी लहर की आषंका सता रही है। अनुमान के मुताबिक तीसरी लहर का असर बच्चों पर ज्यादा हो सकता है। मध्य प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी भी तेज हो गई। सागर जिले के गढ़ाकोटा मे तो दस बिस्तर का एक बच्चा वार्ड भी शुरु हो गया है। कोरोना वायरस के बदलते स्वरुप एवं तीसरे चरण की लहर आने पर छोटे बच्चों को सबसे ज्यादा प्रभावित करने की आशंकाओ एवं डॉक्टरों की सलाह-सुझाव के बीच लोकनिर्माण विभाग के मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने विधानसभा क्षेत्र रहली के गढ़ाकोटा में प्रदेश का पहला चिल्ड्रन कोविड सेंटर तैयार करा लिया है।

मंत्री गोपाल भार्गव के साथ उनके पुत्र अभिषेक भार्गव भी कोरोना संक्रमण काल में 24 घंटे लगातार पीड़ितों की मदद एवं सेवा में लगे है। बच्चों में संक्रमण न फैलने पाए इसके लिए जागरूकता अभियान शुरू कर रहे हैं। इस अभियान में सभी को सजग सतर्क रहते हुए अपने परिवार में छोटे बच्चों को विशेष देखभाल करने एवं संक्रमण से बचाने की मार्मिक अपील की है।

मंत्री भार्गव ने कहा, ” बच्चे परिवार की खुशियाँ हैं, यही मुस्कान हमारा भविष्य है। सभी घर परिवार में बच्चों की किलकारियां हमेशा गूंजती रहे। इसके लिए अभी से जागरूक रहें, सतर्क रहें ।”

उन्होंने बताया कि प्रदेश का पहला चिल्ड्रन कोविड सेंट्रर गढ़ाकोटा में लगभग तैयार कर लिया गया है। यहाँ वायरस संक्रमित बच्चों के बेहतर से बेहतर इलाज करने की व्यवस्थाएं पहले से ही की जा रही हैं। चिल्ड्रन कोविड सेंटर गढ़ाकोटा में 10 पलंग क्षमता का जो बच्चों के लिए वार्ड तैयार किया जा रहा है उसमें संक्रमित पीड़ित बच्चों को कुपोषण से बचाने पोषण आहार के साथ हर तरह के इलाज , दवाओं की व्यवस्था की जा रही है । बच्चों के खेलने मनोरंजन के लिए पालना झूलाघर, खिलौने , किड्स गेम आदि की व्यवस्थाएं भी कोविड सेंट्रर गढ़ाकोटा में की गई हैं।