नई दिल्ली, 26जनवरी 2021

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन ने मंगलवार को उग्र रूप ले लिया. गणतंत्र दिवस पर किसानों ने ट्रैक्टर मार्च के दौरान जमकर बवाल किया और तय रूट से हटकर सेंट्रल दिल्ली में दाखिल हो गए. इसी बीच, किसान ट्रैक्टरों पर सवार होकर लाल किले में घुस गए. बताया जा रहा है कि भारी संख्या में ट्रैक्टर लाल किला पहुंच चुके हैं. पुलिस दिल्ली में बवाल कर रहे किसानों को रोकने की कोशिश कर रही है. इस दौरान, कई जगहों पर किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प भी हुई. पुलिस ने आईटीओ पर उग्र प्रदर्शकारियों को काबू करने के लिए लाठीचार्ज भी किया.

किसान की ट्रैक्टर परेड शुरू होने के कुछ घंटों बाद दोपहर में लाल किले में 20 से ज्यादा ट्रैक्टर घुस गए. प्रदर्शनकारी किसान हाथों में तिरंगा झंडा लिया नारेबाजी करते हुए दिखे. कुछ किसानों ने अपने संगठन का झंडा भी लाल किला पर फहराया. जानकारी के मुताबिक, आईटीओ (ITO) पर अब हालात काबू में आ गए हैं. किसान ट्रैक्टर लेकर आईटीओ से रेड फोर्ट की तरफ रवाना हो रहे हैं. जिसकी वजह से बड़ी संख्या में ट्रैक्टर समेत किसान लाल किले पर पहुंच गए हैं.

गणतंत्र दिवस समारोह को देखते हुए किसानों को राजपथ पर परेड हो जाने के बाद ट्रैक्टर मार्च निकालने की इजाजत दी गई थी. हालांकि, परेड शुरू होने से पहले ही दिल्ली के बॉर्डर पर सुबह आठ बजे से किसान जुटना शुरू हो गए थे. हजारों प्रदर्शनकारी किसान पैदल ही राष्ट्रीय राजधानी में घुस गए. किसानों ने सेंट्रल दिल्ली के आईटीओ में एक पुलिस बस को हाईजैक कर लिया और जमकर बवाल काटा.