तेज होगा किसान आंदोलन, 18 फरवरी को चार घंटे रेल रोकेंगे किसान

75

नई दिल्ली, 11 फरवरी 2021

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के 75वे दिन आज संयुक्त किसान मोर्चे ने एलान किया कि किसान आंदोलन को और तेज किया जाएगा। संयुक्त मोर्चे ने एलान किया कि आंदोलन को तेज करने की कवायद के तहत 18 फरवरी को 4 घंटे रेल रोको आंदोलन किया जाएगा।

संयुक्त किसान मोर्चा ने अपने बयान में कहा, ‘पूरे देश में 18 फरवरी को दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक ‘रेल रोको’ अभियान चलाया जायेगा।’ इतना ही नहीं राजस्थान में 12 फरवरी से टोल संग्रह नहीं करने दिया जाएगा।

इसके अलावा 14 फरवरी को पुलवामा हमले में शहीद जवानों के बलिदान को याद करते हुए देशभर में कैंडल मार्च, मशाल जुलूस व अन्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे तथा 16 फरवरी को किसान मसीहा सर छोटूराम की जयंती के दिन देशभर में किसान एकजुटता दिखाएंगे।

या तो आंदोलन का साथ दें या सरकार का साथ छोड़ें विधायक:

किसान नेता दर्शनपाल सिंह ने बताया कि हम हरियाणा सरकार में शामिल BJP और JJP के विधायकों से कहेंगे कि या तो आप हमारे आंदोलन का साथ दीजिए या फिर सरकार का साथ छोड़ दीजिए। इसके साथ हमने राजस्थान के लोगों से कहा है कि सारे टोल प्लाजा को खोल दिया जाए।

अपने कहे से मुकर रहे पीएम मोदी: शिरोमणि अकाली दल

कृषि कानूनों और एमएसपी को लेकर शिरोमणि अकाली दल नेता सुखबीर सिंह बादल ने आज कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, मुख्यमंत्रियों की कमेटी बनी थी। इस कमेटी का नेतृत्व नरेंद्र मोदी ने किया था। उस कमेटी के हेड ने कहा था कि MSP को स्टेच्युटरी लीगल होना चाहिए था और आज मुकर गए।

वहीँ प्रधानमंत्री द्वारा किसान आंदोलन को विपक्षी दलों का राजनीतिक एजेंडा वाले बयान पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और शिरोमणि अकाली दल नेता हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि कौन सा विपक्षी दल बैठा है किसानों के बीच। किसानों ने साफ बोला है कि राजनीतिक दल हमारे आंदोलन में नहीं आएंगे। नाम बताए कौन सा नेता बैठा है वहां पर 75 दिनों से।