नई दिल्ली, 31 जनवरी 2021

लोकसभा चुनाव 2019 के बाद से जारी कांग्रेस अध्यक्ष की तलाश अभी तक पूरी नहीं हो सकी है। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के पद से इस्तीफा देने के बाद से अब तक सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) पार्टी की कार्यकारी के रूप में अध्यक्ष पद संभाले हुए हैं। हालांकि बीते दो वर्षों में कई बार पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर बैठके हुईं लेकिन कांग्रेस (Congress) के सदस्य किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सके। इस बीच दिल्ली कांग्रेस (Delhi Congress) इकाई ने राहुल गांधी को तत्काल प्रभाव से पार्टी का अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने देश की मौजूदा राजनीतिक हालातों पर चर्चा के लिए वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई। इस बैठक में कांग्रेस पार्टी की मजबूती और भविष्य की नीतियों पर जरूरी विचार विमर्श भी हुआ। बताया जा रहा है कि बैठक में सर्वसम्मति से तीन प्रस्ताव पारित किए गए। इनमें से एक प्रस्ताव में राहुल गांधी को तत्काल प्रभाव से कांग्रेस का नेतृत्व करने और अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने का अनुरोध किया गया है। इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से इस्तीफे की मांग की गई है।

बता दें कि पिछले वर्ष दिसंबर में हुई कांग्रेस की अहम बैठक में भी सभी नेताओं ने कहा था कि राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी लें। इस पर राहुल ने कहा कि इस बात को पार्टी के चुनावी प्रक्रिया पर छोड़ दिया जाना चाहिए। बैठक में सोनिया ने कहा कि उनका परिवार (पार्टी) काफी बड़ा है। ऐसे में उसको मजबूत करने की जरूरत है। राहुल गांधी भी सोनिया गांधी की बात से सहमत दिखे। कांग्रेस नेता पवन बंसल ने कहा कि पार्टी के असंतुष्ट नेताओं को भी राहुल गांधी को कमान सौंपने में कोई एतराज नहीं है।