Congress President Election: गहलोत अध्यक्ष पद की दौड़ से बाहर, सीएम पर सस्पेंस, पायलट ने सोनिया गांधी से की मुलाकात | 10 बड़ी बातें

24

Congress President Election: कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव की दौड़ कड़ी होती जा रही है. गुरुवार (29 सितंबर) को भी कांग्रेस प्रमुख पद के चुनाव को लेकर काफी हलचल रही है. एक तरफ जहां सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) को दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के रूप में प्रतिद्वंदी मिल गया तो दूसरी तरफ अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के चुनाव ना लड़ने को लेकर भी तस्वीर साफ हो गई. इसी बीच सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात की है. जानिए कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव से जुड़ी बड़ी बातें.

1. कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में नामांकन करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर है यानी कल नामांकन करने का आखिरी दिन है. उससे पहले गुरुवार (29 सितंबर) को इस रेस में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी शामिल हो गए.

2. वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष के लिए चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (सीईए) से अपने लिए नामांकन पत्र लिया और कहा कि 30 सितंबर को नामांकन दाखिल करेंगे. 

3. इस हलचल के बीच राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने भी गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की. पायलट ने बैठक के बाद कहा कि राजस्थान के संदर्भ में कांग्रेस पार्टी और सोनिया गांधी सकारात्मक निर्णय लेंगी. हम सभी को मिलकर काम करना होगा. जो भी फैसला होगा, वो सबको स्वीकार्य होगा. इस दौरान प्रियंका गांधी और केसी वेणुगोपाल भी सोनिया गांधी के आवास पर मौजूद रहे. अशोक गहलोत के बाद सचिन पायलट को ही राजस्थान का सीएम बनाने की चर्चा थी.

4. इससे पहले गुरुवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से 10 जनपथ स्थित उनके आवास पर मुलाकात करने पहुंचे थे. राजस्थान कांग्रेस में कलह के बाद गहलोत की सोनिया गांधी के साथ ये पहली मुलाकात थी. इस बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव न लड़ने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि, “मैं कोच्चि में राहुल गांधी से मिला और उनसे (कांग्रेस अध्यक्ष के लिए) चुनाव लड़ने का अनुरोध किया. जब उन्होंने इनकार कर दिया तो मैंने कहा कि मैं चुनाव लड़ूंगा, लेकिन अब उस घटना (राजस्थान में राजनीतिक संकट) के साथ, मैंने चुनाव नहीं लड़ने करने का फैसला किया है.”

5. अशोक गहलोत ने राजस्थान में अपने वफादारों के हंगामे के लिए भी सोनिया गांधी से माफी मांगी. गहलोत ने कहा कि, “पिछले दो दिनों में राज्य में जो कुछ भी हुआ उसने सभी को झकझोर कर रख दिया. मैंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ बातचीत की. दो दिन पहले जो कुछ भी हुआ, उसके लिए मैंने उनसे माफी मांगी.”

6. राजस्थान का सीएम बरकरार रहने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि, “ये मैं तय नहीं करूंगा, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तय करेंगी.” उन्होंने कहा, “एक लाइन का प्रस्ताव हमारी परंपरा है, दुर्भाग्य से ऐसी स्थिति पैदा हुई कि प्रस्ताव पारित नहीं हुआ. ये मेरी नैतिक जिम्मेदारी थी (प्रस्ताव पारित करना), लेकिन मुख्यमंत्री होने के बावजूद मैं इसे पारित नहीं करा सका. पार्टी कांग्रेस अध्यक्ष के अधीन काम करती है और आने वाले समय में फैसले लिए जाएंगे.” 

7. इसके अलावा कांग्रेस अध्यक्ष की चुनाव में शामिल होने वाले नए उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को शशि थरूर से मुलाकात की. शशि थरूर भी कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ रहे हैं. शशि थरूर कल यानी 30 सितंबर को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. 

8. इस मुलाकात के बारे में कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने ट्वीट करके जानकारी दी. थरूर ने ट्वीट किया कि, “आज दिग्विजय सिंह मुलाकात करने आए. पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए उनकी उम्मीदवारी का स्वागत करता हूं. हमारा मुकाबला प्रतिद्वंद्वियों के बीच नहीं बल्कि सहयोगियों के बीच एक दोस्ताना मुकाबला होगा. आखिर में कोई जीते, ये जीत कांग्रेस की होगी.” 

9. अध्यक्ष चुनाव को लेकर कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर तटस्थ हैं. कल का इंतजार करें, हमें एक स्पष्ट तस्वीर मिलेगी. सोनिया गांधी चुनाव के लिए पूरी तरह से निष्पक्ष हैं, वे किसी के पक्ष में नहीं हैं. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि राजस्थान के सीएम पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी 1-2 दिन में फैसला करेंगी.

10. कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के लिए 24 सितंबर से शुरू हुई नामांकन प्रक्रिया कल यानी 30 सितंबर को खत्म हो जाएगी. नाम वापस लेने की आखिरी तारीख 8 अक्टूबर है. अध्यक्ष पद के लिए वोटिंग 17 अक्टूबर को होगी और 19 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया जाएगा.