ऑस्ट्रेलिया, 19जनवरी 2021

ब्रिसबेन टेस्ट मैच को जीतकर भारत ने इतिहास रच दिया है. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को चौथे टेस्ट मैच में विकेट 3 से हरा दिया. भारत की ओर से ऋषभ पंत (Rishabh pant) ने कमाल करते हुए 89 रन की पारी खेली. भारत की इस ऐतिहासिक जीत में पंत और शुबमन गिल हीरो साबित हुए. गिल ने जहां 91 रन बनाए तो वहीं पंत ने तेजी से रन बनाकर भारत को गाबा के मैदान पर पहली जीत दिलाई. 4 टेस्ट मैचों की सीरीज को भारत ने 2-1 से जीतने में सफलता पाई. पंत के अलावा 56 रन की जुझारू पारी पुजारा ने खेली है. भारत ने 328 रनों के लक्ष्य को हासिल कर गाबा में सबसे ज्यादा रनों को सफलतापूर्वक चेज करने का रिकॉर्ड बना दिया है. वहीं टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में भारत का यह यह तीसरा सबसे बड़ा रन चेस करते हुए जीत है.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया 33 साल से इस मैदान पर कोई टेस्ट मैच नहीं हारा था लेकिन भारतीय टीम ने शानदार पऱफॉर्मेंस कर भारत को जीत भी दिलाई और इस मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट में पहली हार भी चखाई. भारत ने ऑस्टे्रेलिया की धरती पर लगातार दूसरी बार टेस्ट सीरीज जीतने का कमाल कर दिखाया है. इससे पहले 2018-19 में भी ऑस्ट्रेलिया को भारत ने ऑस्ट्रेलिया की धरती पर टेस्ट सीरीज हराया था.

टेस्ट मैच के चौथे दिन शुबमन गिल ने रोहित शर्मा के साथ पारी आगाज किया, लेकिन रोहित कोई खास कमाल नहीं कर पाए और केवल 7 रन बनाकर आउट हुए. इसके बाद गिल और पुजारा ने भारतीय पारी को संभाला. दोनों ने मिलकर 114 रन की साझेदारी दूसरे विकेट के लिए की, गिल 91 रन बनाकर आउट हुए. शुबमन के आउट होने के बाद रहाणे बल्लेबाजी के लिए आए. रहाणे ने भले ही 24 रन की पारी खेली लेकिन उन्होंने तेजी से रन बनाकर भारत के इरादे साफ जाहिर कर दिए थे.  कमिंस ने रहाणे को 24 रन पर आउट कर भारत को तीसरा झटका दिया था. इसके बाद रहाणे के आउट होने के बाद पंत और पुजारा ने जमकर बल्लेबाजी की. दोनों ने आपस में चौथे विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी की. पुजारा 56 रन बनाकर आउट हुए.

पुजारा के आउट होने के बाद भी पंत ने पारी को आगे बढ़ाया. हालांकि मयंक अग्रवाल भी कुछ खास नहीं कर पाए लेकिन सुंदर ने पंत का साथ देकर भारत के लिए लक्ष्य आसान कर दिया, सुंदर ने 22 रन की पारी खेली. पंत को मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया.