कोलकाता, 15 मार्च 2021

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को पश्चिम बंगाल के बांकुरा में जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी की चोट का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी को लगी चोट के मामले की जांच होनी चाहिए. टीएमसी जहां इसे साजिश करार दे रही है तो वहीं चुनाव आयोग इसे साजिश मानने से इनकार कर रहा है. उन्होंने कहा कि लेकिन बीजेपी के उन कार्यकर्ताओं का क्या, जिनकी जान चली गई. उन्होंने कहा कि मै आपकी चोट के ठीक होने की कामना करता हूं लेकिन अच्छा होता अगर आप भी बीजेपी के उन कार्यकर्ताओं के बारे में कुछ सोचती जिनकी मौत हो गई.

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी को हाल ही में चोट लगी है और उन्हें दर्द हो रहा है, लेकिन तृणमूल कांग्रेस शासन द्वारा हत्या किए गए भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवारों की तकलीफ का क्या. उन्होंने कहा कि अगर भाजपा सत्ता में आयी तो पश्चिम बंगाल में सरकारी कर्मचारियों के लिए सातवां वेतन आयोग लागू किया जाएगा.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पश्चिम बंगाल के झारग्राम में जनसभा को संबोधित करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि बंगाल में 10 साल से TMC की सरकार ने बंगाल को पाताल तक नीचे ले जाने का काम किया है. हर चीज में भ्रष्टाचार, टोलबाजी, राजनीतिक हिंसा, घुसपैठ ने पूरे बंगाल के विकास को तहत-नहस कर दिया है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने 10 साल के दीदी के शासन में 115 से ज़्यादा योजनाएं पहुंचाई, ये योजनाएं आप तक नहीं पहुंच रही हैं. इसका सबसे बड़ा रोड़ा तृणमूल की सरकार है.