देहरादून, 18 अप्रैल 2021

हरिद्वारा महाकुंभ मेला कोरोना काल में अपने आयोजन को लेकर चर्चा में बना हुआ है। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कुंभ मेला-2021 के आयोजन को लेकर उत्तराखंड की सरकार और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की गई है। शनिवार (17 अप्रैल) को पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कुंभ मेले का प्रतीकात्मक रखने की अपील की है। अब इस पूरे मामले को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर भारत के दो ओलंपिक विजेता आपस में भिड़ गए हैं। भारत के दिग्गज निशानेबाज और ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा ने कोरोना महामारी के दौरान कुंभ मेले के आयोजन की आलोचना की है। वहीं लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले पूर्व पहलवान योगेश्वर दत्त ने कुंभ मेले का समर्थन किया है। दोनों खिलाड़ियों का ट्वीट में सोशल मीडिया पर चर्चा में है, आइए जानें क्या है पूरा माजरा?

बीते साल कोरोना लॉकडाउन के दौरान तबलीगी जमात कार्यक्रम से इस साल के कुंभ की तुलना की जा रही है। जिस पर कमेंट करते हुए योगेश्वर दत्त ने ट्वीट किया, ”कुंभ मेले में कोई भी अवैध रूप से नहीं जा रहा है। लोग सभी प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं। कोई भी सिक्योरिटी और मेडिकल स्टाफ पर थूक नहीं रहा है। कोई भी प्रशासन को देख कर भाग नहीं रहा है। कुंभ में आए शांतिपूर्ण भक्तों को बदनाम करने की ये कोशिश बंद कीजिए।”

योगेश्वर दत्त के ट्ववीट पर अभिनव बिंद्रा का जवाब

योगेश्वर दत्त के इस ट्वीट का जवाब देते हुए अभिनव बिंद्रा ने लिखा, ”जब एक महामारी (कोरोना) का संक्रमण देश को बर्बाद कर रहा है, तो ऐसे में क्या कुंभ मेले का आयोजन किया जाना चाहिए? वायरस धर्मों के बीच भेदभाव नहीं करता है।”

अभिनव बिंद्रा ने अपने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ”एथलीट अपने मकसद पर फोकस करने के लिए जाने जाते हैं। उनका फोकस अटल रहता है, वो भटकते नहीं हैं। इस वक्त सबसे अधिक जरूरी है कि लोगों की जान बचाई जाए, उचित इलाज ढूंढ़ा जाए, जो लोग अपनों को खो रहे हैं उनके लिए संवेदना दिखाई जाए। आप ( योगेश्वर दत्त ) पूरे खेल समुदाय को निराश कर रहे हैं।”

योगेश्वर दत्त ने ये ट्वीट 14 अप्रैल को किया था। जिसका जवाब शनिवार (16 अप्रैल) को अभिनव बिंद्रा ने दिया है।