नई दिल्ली, 28 जनवरी 2021

गणतंत्र दिवस पर किसानों के उत्पात के बाद मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन के नेता नरेश टिकैत ने गाजीपुर (सीमा) पर आज धरना समाप्त करने का ऐलान किया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गाजीपुर बॉर्डर पर धारा 144 भी लगा दी गई है। इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी डीएम और एसपी को किसानों का धरना खत्म कराने का आदेश दिया है। इसी के मद्देनजर गाजीपुर बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों को एक नोटिस जारी किया गया है। गाजियाबाद एडीएम सिटी शैलेंद्र कुमार सिंह ने इसकी पुष्टि की है।

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा, हम धरना तो समाप्त कर देंगे। धरना स्थल (गाजीपुर बॉर्डर) पर पानी, बिजली अन्य सुविधाएं बंद कर दिए गए हैं। अब हम वहां क्या करेंगे? उठ ही जाएंगे। वहीं, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत गाजीपुर बॉर्डर से बोलते हुए कहा, जब तक सरकार से बात नहीं होगी धरणा प्रदर्शन समाप्त नहीं होगा। जब तक गांव के लोग ट्रैक्टरों से पानी नहीं लाएंगे, पानी नहीं पीऊंगा। प्रशासन ने पानी हटा दिया, बिजली काट दी, सारी सुविधा हटा दी।

बीजेपी पर लगाया आरोप

गौरतलब है कि ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस का एक्शन जारी है। गुरुवार को पुलिस द्वारा कई किसान नेताओं को नोटिस थमाया गया। वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी एक्शन में आ गए हैं। उन्होंने किसानों का धरना खत्म कराने का निर्देश जारी किया है। इसे लेकर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि अगर उन्‍हें कुछ होता है इसका जिम्‍मादर प्रशासन होगा। राकेश टिकैत ने कहा कि देश के किसान के साथ अत्याचार किया जा रहा है। कानूनों की वापसी तक आंदोलन जारी रहेगा। वो धरने वाली जगह को खाली नहीं करेंगे। पुलिस के साथ बीजेपी विधायक आए हैं, किसानों के साथ अत्याचार हो रहा है। बीजेपी किसानों का बर्बाद कर रही है। किसानों को बर्बाद नहीं होने दूंगा। उ्न्होंने कहा कि बीजेपी साजिश रच रही है, बीजेपी ने पूरे किसान आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश की गई।